in , ,

Rajasthan health minister Kalicharan Saraf open urinating, says ‘not a big deal’


साल 2018 के दूसरे हफ्ते में जयपुर का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें जयपुर नगर निगम के कर्मचारी एक लड़के को पीट रहे थे. वो लड़का शहर के बीच एक पुल के नीचे खुले में शौच कर रहा था. ये देखकर नगर निगम कर्मचारी इतने गुस्सा हो गए कि पहले उस लड़के को दौड़ाकर डंडों से पीटा. फिर जब वो पकड़ में आया, तो उसे लात-घूंसों से पीटा और उससे उसकी टट्टी उठवाई. ज़ाहिर है, किसी को पीटना गलत है और वो भी इस वजह से… इस तरह!

अब ठीक एक महीने बाद जयपुर नगर निगम के कर्मचारियों के सामने सवाल है कि क्या वो राजस्थान के राज्य स्वास्थ्य मंत्री कालीचरण सराफ के साथ भी यही सलूक करेंगे?

क्या हुआ, कब हुआ, कहां हुआ

जयपुर की मालवीय नगर विधानसभा से विधायक कालीचरण सराफ की एक तस्वीर चर्चा में है, जिसमें वो खुले में पेशाब कर रहे हैं. उनकी गाड़ी वहीं खड़ी है और उनके पर्सनल असिस्टेंट उनके पीछे खड़े हैं. इस तस्वीर से सबसे बड़ा सवाल ये उठ रहा है कि जो सरकार ‘स्वच्छ भारत अभियान’ चला रही है, जिस सरकार के प्रधानमंत्री साफ-सफाई पर इतना ज़ोर दे रहे हैं, उसी के मंत्री इस तरह बीच शहर में सड़क पर पेशाब कर रहे हैं.

खुले में पेशाब करते कालीचरण सराफ. पीछे गाड़ी और उनके पीए हैं.
खुले में पेशाब करते कालीचरण सराफ. पीछे गाड़ी और उनके पीए हैं.

13 फरवरी की बताई जा रही इस तस्वीर में सराफ जवाहर नगर में झलाना बाईपास के पास खड़े बताए जा रहे हैं. पहले तो इस तस्वीर की पुष्टि नहीं हो पाई थी कि इसमें खड़ा व्यक्ति सराफ ही हैं या नहीं. लेकिन बाद में NDTV और ज़ी न्यूज़ की रिपोर्ट्स में दावा किया गया कि जब मीडिया इस तस्वीर पर सराफ से जवाब मांगने उनके ऑफिस पहुंचा, तो सराफ ने कोई भी कमेंट करने से मना कर दिया. रिपोर्ट्स के मुताबिक,

‘सराफ ने कहा कि वो इस बारे में इसलिए बात नहीं करना चाहते, क्योंकि ये एक छोटी सी बात है.’

वहीं राजस्थान के बड़े मीडिया समूह ‘पत्रिका’ ने जवाब मांगने के लिए सराफ को कई बार फोन लगाया, लेकिन सराफ की तरफ से कोई जवाब नहीं दिया गया.

राजस्थान के राज्य स्वास्थ्य मंत्री कालीचरण सराफ
राजस्थान के राज्य स्वास्थ्य मंत्री कालीचरण सराफ

सराफ पहले भी ऐसा कर चुके हैं?

सराफ जवाब दें या न दें, पर लोगों और विपक्ष को उनकी आलोचना का छोर मिल गया है. राजस्थान की प्रदेश कांग्रेस कमेटी की उपाध्यक्ष अर्चना शर्मा ने इसे ‘शर्मनाक’ बताते हुए कहा कि एक मंत्री को अपने ही क्षेत्र में ऐसा नहीं करना चाहिए. अर्चना ने ये दावा भी किया कि ढोलपुर उपचुनाव के समय जब दोनों साथ में जा रहे थे, तब भी सराफ ने एक बार खुले में पेशाब की थी. अर्चना के मुताबिक चुनाव की वजह से माहौल गर्म था और इसलिए वो तब सराफ की फोटो नहीं खींच पाईं.

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी की उपाध्यक्ष अर्चना शर्मा
राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी की उपाध्यक्ष अर्चना शर्मा

वहीं विधानसभा में कांग्रेस के डिप्टी चीफ व्हिप गोविंद सिंह दोतसारा ने नगर निगम वाला मुद्दा उठाते हुए कहा कि सराफ के खिलाफ एक्शन लिया जाना चाहिए, क्योंकि जयपुर नगर निगम ऐसे ही कामों के लिए लोगों की पिटाई कर रहा है.

विधानसभा में कांग्रेस के डिप्टी चीफ व्हिप गोविंद सिंह दोतसारा
विधानसभा में कांग्रेस के डिप्टी चीफ व्हिप गोविंद सिंह दोतसारा

जयपुर में खुले में शौच पर इतना बवाल क्यों!

ये तो साफ है कि ‘स्वच्छ भारत अभियान’ के भयंकर प्रचार और बीमारियों के प्रति जागरूकता के बावजूद हमारे देश में लोग खुले में शौच जाते हैं. जयपुर में ज़्यादा शोर इसलिए है, क्योंकि दिसंबर 2017 में जयपुर के सारे शहरी इलाके को ODF यानी Open Defecation Free यानी खुले में शौच से मुक्त घोषित किया गया था. इसी के साथ जयपुर राजस्थान का पहला ODF जिला बना. इसके बाद ही नगर निगम कर्मचारियों ने खुले में शौच करने वालों को पीटना शुरू किया.

2017 में भारत के सबसे साफ और गंदे शहरों की लिस्ट
2017 में भारत के सबसे साफ और गंदे शहरों की लिस्ट

जयपुर नगर निगम भरसक कोशिश कर रहा है कि जयपुर साफ शहरों की लिस्ट में ऊपर आए. 2017 की देश के साफ शहरों की लिस्ट में जयपुर 215वें नंबर पर था, जबकि उससे पहले ये 29वें नंबर पर था. 2017 की लिस्ट में राजस्थान की हालत ये थी कि इसके 29 शहर लिस्ट में थे, लेकिन टॉप-150 में एक भी नहीं था.

ज़ाहिर है कि अपने जिस शहर को सरकार खुले में शौच से मुक्त बता रही है, जहां खुले में पेशाब रोकने के लिए दीवारों पर पेंटिंग बनवा रही है, वहां किसी मंत्री का खुले में पेशाब करना गजब आयरनी है.

जयपुर में दीवारों पर पेंटिंग बनाते आम लोग और पुलिसवाले. ये कवायद इसलिए की जा रही है, ताकि लोग खुले में दीवारों पर पेशाब न करें.
जयपुर में दीवारों पर पेंटिंग बनाते आम लोग और पुलिसवाले. ये कवायद इसलिए की जा रही है, ताकि लोग खुले में दीवारों पर पेशाब न करें.

इन रसीदों से सर्राफ को चिढ़ा रहे लोग

जयपुर में खुले में पेशाब करने पर नियम के मुताबिक 200 रुपए का जुर्माना लगता है. अब तक कई लोग ये जुर्माना भुगत चुके हैं. ऐसे ही कुछ लोग अब सोशल मीडिया अपने जुर्माने की रसीद दिखाकर सराफ और नगर निगम को मुंह चिढ़ा रहे हैं. सीधा सा सवाल है कि नगर निगम सराफ के खिलाफ क्या एक्शन लेगा. और एक्शन लेगा भी या नहीं.

खुले में पेशाब करने पर काटे गए एक चालान की रसीद
खुले में पेशाब करने पर काटे गए एक चालान की रसीद

उप-चुनाव हारने के बाद से राजस्थान बीजेपी के दिन खराब चल रहे हैं

राजस्थान में 1 फरवरी को दो लोकसभा और एक विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव का नतीजा आया था. इन तीनों सीटों पर कांग्रेस ने बड़ी जीत दर्ज की थी, जबकि पहले ये सीटें बीजेपी के पास थीं. इसके बाद से राजस्थान बीजेपी के बारे में लगातार ऐसी खबरें आ रही हैं, जो पार्टी के लिए नेगेटिव हैं. बीते दिनों कोटा के बीजेपी नेता अशोक चौधरी ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को एक पत्र लिखा, जिसमें उन्होंने वसुंधरा सरकार के प्रति असंतोष जताया.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया

फिर बीजेपी के विवादित नेता और विधायक ज्ञानदेव आहूजा की एक ऑडियो क्लिप सामने आई, जिसमें आहूजा नेतृत्व में बदलाव की बात कह रहे हैं. हद तो तब हो गई, जब खुद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने एक लापरवाही भरा बयान दे दिया. राजस्थान का 2018-19 का बजट आने के बाद एक पत्रकार ने वसुंधरा से पूछा कि बजट में किए गए वादों के पूरा होने की क्या गारंटी है. इस सवाल पर वसुंधरा ने दो टूक जवाब दिया, ‘कोई गारंटी नहीं है.’

ज्ञानदेव आहूजा
ज्ञानदेव आहूजा

देखिए जयपुर पुलिस सफाई को लेकर कितनी जागरूक है

जयपुर की साफ-सफाई के बारे में दावे तो कई हैं, पर उन्हें सिर के बल खड़ा करने वाली तस्वीरें भी हैं. ये त्रिमूर्ति सर्किल के पास की एक तस्वीर है, जब एक बंदी को टॉयलेट जाना था, लेकिन पुलिसवाले ने उसे सार्वजनिक शौचालय में अंदर जाने देने के बजाय बाहर ही खड़ा कर दिया था.

jaipur-open-urinating

क्या जयपुर ऐसे साफ होगा?


ये भी पढ़ें:

उड़ता राजस्थान: जहां की जनता अफीम चाटने की शौकीन है

राजस्थान की तीन बहनों के IAS एग्ज़ाम पास करने की कहानी झूठ है, सच जान लीजिए

राजस्थान के गांवों में लोगों के बाल काटकर मारने वाला ‘गोटमैन’ कहां से आया?

पद्मावती पर ख़ून उबालने वाले राजस्थानियों की नाक क्या ऐसी ख़बर से नहीं कटती?

 





Source hyperlink

What do you think?

0 points
Upvote Downvote

Total votes: 0

Upvotes: 0

Upvotes percentage: 0.000000%

Downvotes: 0

Downvotes percentage: 0.000000%

Talwalkars: Pioneering fitness | Forbes India

Sports thrive in North Korea despite sanctions